कुल 30 करोड़ रुपए की लागत से संसारपुर समूह के गांवों में बुनियादी ढांचे का होगा विकास 68 गांवों की बदलेगी नुहार 9 करोड़ रुपये जारी :डिप्टी कमिश्नर

होशियारपुर, (अमृत पाल वासदेव) 09 अगस्त:रुरर्बन मिशन के अंतर्गत जिले की दसूहा सब-डिविजन के संसारपुर के 68 गांवों की मुकम्मल तौर पर नुहार बदली जाएगी,जिसके लिए पहली किश्त के तौर पर 9 करोड़ रुपए जारी किए जा चुके हैं। इन गांवों में रोजगार के मौको को प्रोत्साहन देने के साथ-साथ शहरी तर्ज पर विकास, बुनियादी सुविधाएं मुहैया करवाने व आर्थिक ढांचे का विकास किया जाएगा।डिप्टी कमिश्नर अपनीत रियात ने इस बाबत जानकारी देते हुए बताया कि संसारपुर कलस्टर के इन 68 गांवों में विकास कार्य युद्ध स्तर पर चल रहे हैं और सभी गांवों में 2471 सोलर एल.ई.डी. लाइटें लग चुकी है। उन्होंने बताया कि रुरर्बन मिशन के अंतर्गत इन गांवों में बुनियादी ढांचे के विकास को शहरी तर्ज पर लागू करने के अंतर्गत एक साथ विकास यकीनी बनाया जाएगा।

उन्होंने बताया कि यह मिशन विकास के क्षेत्र में बड़ी तब्दीली लाते हुए गांवों में बायो डायजेस्टर शौचालय, बस क्यू शैल्टर, बहु उद्देश्यीय हाल, खेल कांप्लेक्स, तरल अवशेष प्रबंधन व पीने वाले पानी की पाइपें बिछाई जा रही हैं।अपनीत रियात ने बताया कि इसके अलावा ग्राामीण सडक़ों का निर्माण, सरकारी स्कूलों में सैनेटरी पैड मशीने लगाना, आंगनवाड़ी केंद्रों की मुरम्मत व निर्माण के अलावा गांव रंगियां में कौशल विकास केंद्र(स्किल डेवलेपमेंट सैंटर) की मुरम्मत व मजबूती का काम किया जाएगा।उन्होंने बताया कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी राष्ट्रीय रुरर्बन मिशन के अंतर्गत इन गांवों में केंद्र-राज्य सरकारों की 70:30 प्रतिशत क्रमवार साझेदारी से कुल 30 करोड़ रुपए खर्चे जाएंगे, जिनमें से 9 करोड़ रुपए पहले ही जारी किए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि इस मिशन का मुख्य उद्देश्य बेरोजगारों के लिए रोजगार के मौके पैदा करने के साथ-साथ एकसाथ ग्रामीण विकास को यकीनी बनाना है।अपनीत रियात ने बताया कि संसारपुर कलस्टर के गांवों में विकास कार्य पूरी रफ्तार से जारी है जो कि मार्च 2021 तक पूर्ण तौर पर मुकम्मल करने का लक्ष्य है।

उन्होंने बताया कि मिशन के अंतर्गत गांव पंधेर में दुकानें बनाई जा रही हैं, जिसके माध्यम से गांव वासियों को रोजगार के साधन स्थापित करने के मौके प्रदान करने के साथ-साथ खरीदो फरोख्त की भी आसानी होगी। इसी तरह गांव पसी कंडी व संसारपुर में बायो डायजेस्टर सार्वजनिक शौचालय भी बनाए गए हैं।डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि यह मिशन मुकम्मल होने के साथ इन गांवों में बुनियादी ढांचे के विकास व आर्थिक गतिविधियों को विशेष प्रोत्साहन मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!